This Week's Top Stories About व्यापार वृद्धि के बेहद आसान उपाय |

Ganesha Vector Thread Transparent & PNG Clipart Free Download - YWD

व्यापार वृद्धि के बेहद आसान उपाय

Workplace, Team, Business Meeting
आज हम आपको बताएँगे व्यापार वृद्धि के उपाय? जानने के लिए पढ़ें यह लेख। आज देश का हर युवा अपने पैरों पर खड़े होने के लिए अपना व्यापार करने की योजना बनाता है । किन्तु व्यापार में सफल होगा या नहीं, सोचकर यह परेशानी सताने लगती है।  समस्या यह है कि आए दिन एक नया व्यापार शुरू हो रहा है, प्रतियोगी बढ़ते जा रहे है, लेकिन व्यापार में होने वाले नुकसान के चलते जल्द ही उन पर ताले भी लग जाते हैं।   इस लेख के माध्यम से आप जानेंगे  व्यापार वृद्धि से जुड़े कुछ आसान उपाय ।

व्यापार वृद्धि में यंत्र पूजन का महत्व 

यंत्रों का प्रभाव बहुत सकारात्मक होता है और इनको पूजने से आर्थिक स्थिति मज़बूत होती है व जीवन में सुख प्राप्त होता है। हिंदू धर्म के अनुसार पूजन के समय यंत्रों का काफी महत्व है। ऐसे में व्यापार में सफलता पाने के लिए आप व्यापार वृद्धि यंत्र का पूजन चाहिए । इस यंत्र को शुभ मुहूर्त देखकर अपने कार्यस्थल पर स्थापित करें। प्रत्येक माह के शुक्ल पक्ष में रविवार के  दिन इस यंत्र की स्थापना के लिए अतयंत शुभ माना जाता है। इस यंत्र की पूजा करते समय इस मंत्र का ‘’ऊँ श्री ह्रीं क्लीं महालक्ष्मै नम:’’ का जाप करें। रोजाना व्यापार वृद्धि यंत्र की पूजा करने से व्यापार में वृद्धि होगी और आय के साधन बहुत जल्द बढ़ने लगते है ।

Sea Snail, Cineraria, Trochidae, Snail


व्यापार वृद्धि में  गोमती चक्र का महत्व 

यह एक चक्रनुमा सफ़ेद पत्थर होता है जो गोमती नदी में पाया जाता है। इसी कारण इसे गोमती चक्र  के नाम से जाना जाता हैं। इस पत्थर को मां लक्ष्मी जी का रूप माना जाता है। व्यापार में वृद्धि के लिए गोमती चक्र का इस्तेमाल बहुत से लोगो के द्वारा किया जाता रहा है। अपने व्यवसाय के स्थान पर शुक्ल पक्ष में गुरुवार के दिन आप पिला हल्दी और केसर से 12 गोमती चक्रों पर तिलक लगाकर एक कपड़े में बांध कर रख दें। या  इस कपड़े को आप चौखट पर लटका भी सकते हैं। ऐसा करने से व्यापार में जल्द ही वृद्धि होने लगेगी। यह प्रमाणित हो चूका है। 
Men, Employees, Suit, Work, Greeting

व्यापार वृद्धि के अन्य टोटके 

निम्नलिखित  टोटकों को अपनाकर भी आप अपने व्यापार में वृद्धि कर सकते हैंः
  • कार्यस्थल या दुकान पर अंदर जाने से पहले अपना दाहिना हाथ ज़मीन पर लगाएं और उसके बाद मस्तक या हृदय पर लगाएं। ऐसा करने से व्यापार में वृद्धि  होगी, व्यापार  वृद्धि के लिए ये बहुत ही आसान उपाय है।
  • व्यापार व कारोबार में वृद्धि के लिए लक्ष्मी नारायण के मंदिर में प्रत्येक शुक्रवार को गुड़ तथा चना बाँटें। मंदिर में  माँ  लक्ष्मी की प्रतिमा के समक्ष खुशबूदार अगरबत्ती जलाएं और व्यापार वृद्धि की प्रार्थना करें। 
  • व्यापार में स्थायी लाभ पाने के हेतू  हमेशा  कुत्ता, गाय और कौवों को रोटी ज़रूर खिलाएं।
  • आप नींबू और हरी मिर्च के प्रयोग के प्रयोग के द्वारा भी  अपने व्यापार व कारोबार को बढ़ा सकते हैं। इसके लिए 7 हरी मिर्च और 1  नींबू लेकर माला बनाएं और उसे दुकान में वहां पर लटका दे, जहाँ पर ग्राहक की निगाह पड़े। ये बहुत ही आसान सा उपाय है, इसके आपको काफी अच्छे परिणाम बहुत जल्द मिलने लगते है।
  • आप कच्चे सूत के प्रयोग से भी अपने व्यापार में तरक्की पा सकते हैं। एक कच्चे सूत को केसर के घोल में भिगोकर रंग दें और फिर इसे अपने कार्य स्थल पर बांध दें। ऐसा करने से व्यापार में वृद्धि होने लगती है।
  • प्रत्येक दिन जब आप अपने व्यवसाय स्थल  पर जाने  समय अपने इष्ट देव का ध्यान करें और कोई सुगंधित इत्र लगाएं, ऐसा करने से व्यापार में सफलता मिलेगी।
  • किसी शुभ मुहूर्त में कपूर और रोली को जलाकर उसकी राख को एक कागज में रख लें और उसे अपनी दुकान या घर के उस स्थान पर रखें, जहां आप अपना धन रखते हैं।
  • जिस घर में लड़ाई, झगड़े व गृहक्लेश होता हो उस घर में लक्ष्मी का निवास नहीं होता है. अतः माँ लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए घर में शांति व प्रेम सदैव बनाएं रखें।
  • शाम के समय कदापि भी न सोएं, झाड़ू भी न लगाएं क्योंकि ऐसा करने से लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं। पूजा स्थल पर प्रत्येक दिन गाय के घी का  दीपक ज़रूर जलाएं। यह चमत्कारी प्रयोग प्रमाणित है। 
  • कार्यक्षेत्र पर सफलता के लिए किसी सफल व्यक्ति को अपना आदर्श बना लें और उस व्यक्ति की तस्वीर अपने कक्ष में लगाएं। 
  • व्यापारिक स्थल के पूजा घर में स्फटिक का बना हुआ श्री यंत्र और एकाक्षी नारियल स्थापित करके प्रतिदिन गुलाब की सुगंधित अगरबत्ती से पूजा करने से व्यापार में निश्चित सफलता प्राप्त होती है।Coconuts, Foods, Fruits, Tropical, Nuts
  • यदि आपके व्यापार में मंदी आ जाये तो, किसी साफ शीशी में सरसों का तेल भरें और उसे किसी बहती नदी या तालाब के जल में प्रवाहित कर दें। व्यापार फिर से उठने लग जाएगा।
  • शुक्ल पक्ष में, या शुभ मुहूर्त में अपनी फैक्ट्री या दुकान के दरवाजे के बाहर दोनों तरफ थोडा सा गेहूं का आटा रख दें। ध्यान रहे इस कार्य को करते वक्त किसी की नज़र आप पर न पड़े।
  • कारोबार में लगातार नुकसान या झगड़े की स्थिति होने पर अपने वज़न के बराबर कच्चा कोयला लेकर पानी में प्रवाहित कर दें, ऐसा करने से शीघ्र ही लाभ मिलना शुरू हो जायेगा ।
  • व्यापार को बढ़ाने के लिए एक पययो आप यह भी करें , किसी भी शनिवार को पीपल के पेड़ से एक पत्ता तोड़ लाएं, उसे धूप-बत्ती दिखाकर अपनी दुकान की गद्दी जिस पर आप बैठते हैं, उसके नीचे रख दें। सात शनिवार तक लगातार ऐसा ही करें। जब गद्दी के नीचे सात पत्ते इकट्ठे हो जाएं तो उन्हें एक साथ किसी तालाब या कुएं में बहा दें, आपका व्यवसाय चल पड़ेगा।
                                         Tree, Fall, Fall Colors, Fall Leaves, Autumn
  • किसी ऐसी दुकान जो काफी चलती हो, वहां से लोहे की कोई कील या नट आदि शनिवार के दिन ख़रीदकर ले आएं। काली उड़द के 10-15 दानों के साथ उसे एक शीशी में रख लें। धूप-दीप से पूजा कर ग्राहकों की नज़रों से बचाकर दुकान में रख लें। व्यापर वृद्धि होने लगेगा।
  • अगर आपके व्यापार स्थल पर किसी भी प्रकार की समस्या चल रही  हो, तो वहां श्वेतार्क गणपति तथा एकाक्षी श्री फल की स्थापना करें और फिर नियमित रूप से धूप, दीप आदि से पूजा करें तथा सप्ताह में एक बार मिठाई का भोग लगाकर प्रसाद यथासंभव अधिक से अधिक लोगों को बाँटें। चाहें तो भोग नित्य प्रति भी लगा सकते हैं।

वास्तु के अनुसार व्यापार वृद्धि 

हमारे घर में धन-समृद्धि के देवता कुबेर का स्थान उत्तर दिशा में होता है, और साथ ही उत्तर दिशा का प्रतिनिधि बुध ग्रह के द्वारा होता है। ऐसे में घर की उत्तर दिशा के अगर दोष पूर्ण हो तो आपकी बुद्धि भ्रमित हो जाती  है। अतः  उत्तर दिशा की दीवार पर हरे रंग के तोते की तस्वीर अवश्य लगानी चाहिए क्योंकि हरा रंग बुध का रंग होता है। उत्तर दिशा में हरे रंग के तोते की तस्वीर लगाने से वहां के समस्त  दोष समाप्त हो जाता है ।


|| धन्यवाद  || 




Please, Follow, Like,  Share, and Post Your Valuable Comments.

Comments

Popular posts from this blog

What Everyone Must Know About Surya || सूर्य नमस्कार मंत्र, सूर्य देव को प्रसन्न करने के अचुक मंत्र